gratis homepage uhr website clocks
कोसी प्रमंडल (बिहार) से प्रकाशित इस प्रथम दैनिक ई. अखबार में आपका स्वागत है,भारत एवं विश्व भर में फैले यहाँ के तमाम लोगों के लिए यहाँ की सूचना का एक सशक्त माध्यम हम बनें, यही प्रयास है हमारा, आपका सहयोग आपेक्षित है... - सम्पादक

Scrolling Text

Related Posts with Thumbnails

सोमवार

नीतीश ने कहा, आम बजट निराशाजनक


बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्रीय वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी द्वारा सोमवार को लोकसभा में वित्त वर्ष 2011-12 के लिए पेश आम बजट को निराशाजनक बताते हुए इसे भेदभवपूर्ण करार दिया है।
बजट पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि आम बजट पूरे देश के समावेशी विकास को ध्यान में रखकर नहीं बनाया गया है, बल्कि इसमें उन्हीं राज्यों का ध्यान रखा गया है, जहां विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। बजट में बिहार की पूरी तरह उपेक्षा की गई है। संतुलित बजट का केंद्र सरकार का दावा गलत है। बिहार के प्रतिनिधियों और स्वयं उन्होंने कई बार प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री से मिलकर बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने सहित अतिरिक्त मदद की मांग की, लेकिन उन्हें नजरअंदाज कर दिया गया। उन्होंने बजट को महंगाई और क्षेत्रीय असंतुलन बढ़ाने वाला कहा।

शनिवार

लेखनी से समाज को नई दिशा दे सकते हैं लेखक- डा. जगन्नाथ मिश्र


बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डा. जगन्नाथ मिश्र ने लेखकों का आह्वान करते हुए कहा कि वे अपनी लेखनी के माध्यम से समाज को नई दिशा दें ताकि स्वच्छ समाज का निर्माण हो सकें। डा. मिश्र ने गुरुवार शाम समस्तीपुर जिले के कर्पूरी ग्राम में प्रो. विनोद कुमार द्वारा लिखित अंग्रेजी उपन्यास हूज फॉल्ट का विमोचन करते हुए कहा कि सामाजिक परिवर्तन में लेखकों की अहम भूमिका होती है। लेखक की लेखनी में इतनी ताकत होती है कि वे इससे समाज को नई दिशा प्रदान कर सकते हैं। इस अवसर पर बिहार के पूर्व मंत्री रामनाथ ठाकुर, प्रो. एस एन तिवारी, शिक्षाविद डां. नवल किशोर ठाकुर और प्रो. विनोद कुमार समेत कई साहित्यकार एवं कवि उपस्थित थे।
 

गुरुवार

साहित्य अकादमी पुरस्कार- अनुवाद के लिए डा. एनएल दास को पचास हजार की राशि सहित सम्मान अगस्त में


कोसी का सम्मान 

फारबिसंज महाविद्यालय में अंग्रेजी विभाग के पूर्व विभागाध्याक्ष प्रख्यात साहित्यकर्मी डा. एनएल दास को मैथिली अनुवाद साहित्य में महत्वपूर्ण योगदान के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार 2011 से सम्मानित किया गया। उल्लेखनीय है कि डा. दास को पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम द्वारा रचित इगनाईटेड माइंडस की मैथिली अनुवाद प्रज्ज्वलित प्रज्ञ के लिए इस प्रतिष्ठत पुरस्कार से सम्मानित किया गया। डा. दास को अगस्त माह में पचास हजार की राशि से साहित्य अकादमी सम्मानित करेगी। कोसी क्षेत्र के साहित्यकारों ने डा. दास की इस उपलब्धि पर बधाईयाँ दी है जिनमें सर्व श्री हरिशंकर श्रीवास्तव ’शलभ’. डा.भूपेन्द्र ’मधेपुरी’, देवेन्द्र कुमार देवेश, डा. रमेशचंद्र वर्मा एवं अरविन्द श्रीवास्तव आदि प्रमुख हैं। 

सम्पूर्ण कोसी क्षेत्र में ओले की बरसात, किशनगंज में दो मरे मधेपुरा-सुपौल से भी मौत की खबर



कोसी क्षेत्र के सुपौल, मधेपुरा, पुर्णिया, अररिया और किशनगंज में जम कर ओलाबारी हुई, गरज के साथ बारिश हुई। कहीं-कहीं तो सौ ग्राम से एक किलो तक के ओले गिरे, सम्पूर्ण कोसी अंचल में खड़ी फसलों की अपूरनीय क्षति हुई  गेहू, मकई व केला की फसलों को काफी नुकसान हुआ। ओला गिरने से आम के मंजर को भी व्यापक क्षति पहुंची है। पूर्णिया एवं किशनगंज में इतने ओले गिरे कि सम्पूर्ण सड़क ओलों से पट गयी और कुछ समय के लिए यातायात भी बाधित हुआ, ठंढ़ फिर से लौट आयी-ठिठुरन बढ़ गयी है। राजेन्द्र कृषि विश्वविधालय पूसा के मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार मौसम की यह स्थिति दो दिन और रह सकती है।

बुधवार

जोगबनी जा रहे पांच यात्रियों को नशाखुरानी ने बनाया शिकार


नई दिल्ली से जोगबनी जा रहे हिमाचल एक्सप्रेस 12488 डाउन ट्रेन के पांच यात्रियों को मंगलवार को कटिहार रेलवे स्टेशन पर बेहोशी की हालत में उतारा गया। रेल पुलिस सूत्रों ने बताया कि नशाखुरानी गिरोह के शिकार होने के कारण पांच यात्रियों को होश नहीं था। सभी को इलाज के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया है।
उन्होंने बताया कि प्रभावितों की अभी तक पहचान नहीं हो पायी है। प्रभावितों में एक सिविल इंजीनियर बताया जा रहा है, जो दिल्ली स्थित एक कंपनी में कार्यरत है जबकि चार अन्य मजदूर हैं।
 

मंगलवार

कल्पना बनी बिहार जदयू किसान प्रकोष्ठ की प्रदेश सचिव


मधेपुरा, बिहार प्रदेश जदयू किसान प्रकोष्ठ की प्रदेश सचिव पद पर कल्पना शरण का मनोनयन प्रदेश अध्यक्ष आरएन सिंह ने किया है। श्रीमती शरण धुन्हा-गम्हरिया की निवासी हैं। संघर्ष क्षमता के कारण चर्चित कल्पना शरण के मनोनयन से यहां किसानों ने हर्ष व्यक्त किया है। पत्रकारों को उन्होंने बताया कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार ने किसानों के हितों में अनेक कार्यक्रम लागू किए हैं। जरूरत है इसके बारे में आम किसानों को जागरूक करने की। इसके लिए हम लोग गांव-गांव घूमकर किसानों को सरकारी योजनाओं के बारे में बताकर खुशहाल बिहार के मार्ग को प्रशस्त करेंगे

शुक्रवार

कालाधन छिपाने वालों के नाम जल्द करेंगे उजागर : शरद यादव

मधेपुरा के सांसद एवं जदयू के रा. अध्यक्ष
शरद यादव 


जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने दावा किया की स्वीस बैंक में कालाधन जमा करने वाले भारतीयों की सूची उन्हें मिल गयी है। बुधवार को राज्य के छह दिवसीय दौरे पर पटना पहुंचे श्री यादव ने हवाई अड्डे पर कहा कि देश का पैसा विदेशों में पहुंचा देने वालों की सूची का अध्ययन करने के बाद वह सही समय पर नामों का खुलासा करेंगे। विधानसभा चुनाव में बागी बने नेताओं के खिलाफ अनुशासन समिति की कार्रवाई को उन्होंने पूरी तरह जायज ठहराते हुए कहा कि प्रदेश ही नहीं जिलास्तरीय समिति भी बड़े से बड़े नेता के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश कर सकती है। आखिरकार निर्णय तो आलाकमान को ही लेना है। बिहार में भी विधानसभा चुनाव के दौरान अनेक नेताओं पर पार्टी नेतृत्व के फैसले के खिलाफ काम करने के आरोप लगे। ऐसे नेताओं पर लगे आरोपों की जांच पड़ताल के लिए अनुशासन समिति बनी। यह समिति जिन नेताओं के खिलाफ सिफारिश करेगी, उन सभी के खिलाफ कार्रवाई होगी। श्री यादव  ने बताया कि कुछ शिकायती पत्र उनके पास भी आए थे। वे सब अनुशासन समिति को सौंप दिए गए।

रविवार

कुर्सेला घाट पर अर्से बाद दिखा मगरमच्छों का कुनबा


बिहार के कटिहार जिले की सीमा से लगे पूर्णियां जिले में कोसी और गंगा के संगम वाले कुर्सेला घाट पर विशाल मगरमच्छों का एक कुनबा इन दिनों लोगों के लिए कौतूहल और भय का कारण बना हुआ है।लगभग छह दशक पूर्व तक अविभाजित बिहार के पूर्णियां जिला के कोसी नदी का कछार वाला इलाका जंगल, हिंसक वन्य प्राणियों और जल जीवों के लिए मशहूर था लेकिन बढ़ती आबादी, पर्यावरण में आए बदलाव, वृक्षों की अंधाधुंध कटाई और कोसी परियोजना के कार्यान्वयन के कारण इस इलाके में वन्य प्राणी तथा जल जीव पूरी तरह लुप्त या दुर्लभ हो चुके हैं, लेकिन लम्बे अर्से बाद एक बार फिर कुर्सेला घाट पर लगभग तीन मीटर लम्बे और डेढ़ मीटर चौडे़ तीन बड़े मगरमच्छ इन दिनों धूप सेंकते नजर आ रहे हैं। उनके साथ में शिशु मगरमच्छ भी पानी और रेत पर अठखेलियां करते रहते हैं।कुर्सेला घाट पर नित्य स्नान करने वाले लोग इन मगरमच्छों से भयभीत है। आगामी माघी पूर्णिमा के दिन यहां लगने वाले मेले के अवसर पर बड़ी संख्या में संगम में डूबकी लगाने वालों के लिए यह खतरे का सबब बना हुआ है। इसके साथ ही इन मगरमच्छों को भी लोगों से खतरा है।
गौरतलब है कि कटिहार जिले में कुर्सेला से भौआ तक कोसी नदी के कछार के काश पटेर के जंगलों में एक समय गेंडा, बाघ, चीता, मगरमच्छ जैसे वन्य प्राणी बहुतायत में पाए जाते थे। भारत में अब तक का सबसे बड़ा रॉयल बंगाल टाइगर कटिहार जिला के गेड़ाबाड़ी के जंगलों में मिला था जिसका खाल आज भी कोलकाता संग्रहालय में रखी है।

शुक्रवार

राष्ट्रकवि दिनकर के परिवार को न्याय दिलाए सरकारः सिद्दीकी


राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर के पौत्र द्वारा पटना स्थित उनके एक मकान में बनी दुकान पर उपमुख्यमंत्री के एक रिश्तेदार द्वारा कब्जा करने का आरोप लगाये जाने पर बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखकर उनसे इस मामले में हस्तक्षेप कर दिनकर के परिवार को न्याय दिलाने का अनुरोध किया है।
दिनकर के पौत्र अरविंद कुमार और पुत्रवधु हेमंत देवी ने बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के एक रिश्तेदार पर पटना के आर्यकुमार रोड स्थित अपने एक मकान में बनी एक दुकान पर कब्जा कर लेने का आरोप लगाते हुए को मुख्यमंत्री आवास जाकर नीतीश कुमार से भेंटकर इस संबंध में गुहार लगायी थी।

बुधवार

मधेपुरा रेल कारखाना बंद करने का बिहार करेगा विरोध


उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि बिहार रेलवे की दो परियोजनाओं मढ़ौरा व मधेपुरा रेल कारखाना के चैप्टर क्लोज करने का विरोध करेगा। इस मामले को केन्द्र सरकार के साथ-साथ रेल मंत्री ममता बनर्जी के समक्ष अलग से भी उठाया जाएगा। मोदी ने आरोप लगाया है कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की वजह से बिहार में मढ़ौरा व मधेपुरा कारखाना पर ग्रहण लगा है। लालू प्रसाद ने फर्जी आंकड़ों से रेलवे को 90 हजार करोड़ रुपए के लाभ में दिखाया और पूरी दुनिया में इसकी ढोल पीटी। इतना लाभ था तो उन्होंने काम क्यों नहीं शुरू करवाया? काम शुरू हो जाता तो उसे स्थगित नहीं किया जा सकता था। लालू प्रसाद ने बगैर रेलवे की माली हालत जाने दोनों परियोजनाओं की घोषणा कर दी। ऐसा कर उन्होंने रेलवे के साथ मजाक और बिहार के साथ धोखाधड़ी की है। आज परिणाम यह हुआ है कि रेलवे मंत्रालय ने इन परियोजनाओं को स्थगित करने की घोषणा कर दी है। 
उन्होंने कहा कि यह हैरतअंगेज है कि जिस रेलवे को लालू हजारों करोड़ के लाभ में बता रहे थे उसी रेलवे ने केन्द्र सरकार से 40 हजार करोड़ रुपए का बजटीय सहयोग क्यों मांगा है। यह इस बात की पोल खोलता है कि लालू प्रसाद ने रेलवे को कैसे चलाया है.

मंगलवार

कोसी में समाजवाद का परचम लहराने वाले भूपेन्द्र नारायण मंडल, जिनकी आज है 107 वीं जयन्ती-


कोसी की धरती पर समाजवादी विचारधारा का जन्म बीसवीं सदी के पाँचवे दशक के मध्य में हो चुका था। काँग्रेस समाजवादी पार्टी के संयोजक जयप्रकाश नारायण तथा मुखर प्रवक्ता डा. राममनोहर लोहिया ने कोसी क्षेत्र में कई जनसभाओं को सम्बोधित किया था, जिसने यहाँ के जनमानस को समाजवादी विचारधारा को समझने के अनेक अवसर प्राप्त हुए। 1945 ई’. में भूपेन्द्र नारायण मंडल की अध्यक्षता में भागलपुर जिला काँग्रेस समाजवादी दल का गठन किया गया। शीध्र ही इस क्षेत्र के बुद्धिजीवी, किसान,मजदूर सारे लोग इस दल की ओर आकृष्ट होने लगे। किसी न किसी रूप में यह विचार धारा यहाँ आजतक प्रवाहित है। समाजवाद भूपेन्द्र नारायण मंडल के जीवन का एक महान आदर्शोन्मुख संकल्प था। उन्होंने बैलगाड़ी से सम्पूर्ण क्षेत्र में घूम-घूम कर गहन जनसम्पर्क किया और गाँव-गाँव में समाजवाद के ध्वज को फहराया। वे शील, सादगी और विनम्रता की प्रतिमूर्ति थे। मधेपुरा में स्थापित भूपेन्द्र नारायण मंडल विश्वविधालय उनके यशस्वी जीवन की गौरवोज्जवल गाथा का प्रतीक है। भूपेन्द्र नारायण मंडल जीवित नहीं हैं, किन्तु उनका समाजवाद किसी न किसी रूप में इस धरती पर स्थापित है।
उनका 107 वीं जयंती समारोह उनके पैतृक गांव रानीपट्टी सहित मधेपुरा के भुपेन्द्र चौक, विधि महाविधालय, बी.एन मंडल विश्वविधालय आदि जगहों पर आयोजित होंगे।  
 कोसी के इस महान सपूत को आज 1 फरवरी, उनके जन्मदिन पर  कोसी खबर परिवार की ओर से सादर प्रणाम निवेदित है।