gratis homepage uhr website clocks
कोसी प्रमंडल (बिहार) से प्रकाशित इस प्रथम दैनिक ई. अखबार में आपका स्वागत है,भारत एवं विश्व भर में फैले यहाँ के तमाम लोगों के लिए यहाँ की सूचना का एक सशक्त माध्यम हम बनें, यही प्रयास है हमारा, आपका सहयोग आपेक्षित है... - सम्पादक

Scrolling Text

Related Posts with Thumbnails

शुक्रवार

कोसी पर केन्द्रित महत्पूर्ण पुस्तक- अंग प्रदेश की महानदी कोशी


कोसी लोककथाओं की माँ है, इनमें कई लोककथाएँ तो सीधे कोसी से जन्म और इनके उन्मत्त रूप से जुड़ी हुई है। कोसी अपने उत्स से चाहे जिस पर्वतीय प्रदेश से जुड़ी हुई हो, लेकिन कोसी, अगर कोसी के रूप में सही-सही कहीं जानी जाती है, तो अंगुत्तराप यानी उत्तर अंग में प्रवेश से ही। और उत्तर अंग में प्रवेश  के साथ ही कोसी लोककथाओं से जुड़ जाती है.....पुस्तक से
पुस्तकः  अंग प्रदेश की महानदी कोशी / मूल्य - 150/00
लेखकः चन्द्रप्रकाश जगप्रिय
प्रकाशकः निराली दुनिया पब्लिकेशन्स
नई दिल्ली-2., फोन- 011 23276094, मो.- 09811270387.

सोमवार

साहित्यकार रामवृक्ष बेनीपुरी की सुपुत्री प्रभा बेनीपुरी के निधन पर मुख्यमंत्री का शोक

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रख्यात साहित्यकार रामवृक्ष बेनीपुरी की सुपुत्री प्रसिद्ध शिक्षाविद श्रीमती प्रभा बेनीपुरी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। कुमार ने शनिवार को अपने शोक संदेश में कहा है कि श्रीमती प्रभा बेनीपुरी एक प्रख्यात समाजसेवी और प्रसिद्ध शिक्षाविद थी। उनके निधन से शिक्षा जगत को अपूरणीय क्षति हुई है। मुख्यमंत्री ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति तथा उनके परिजनों एवं प्रशंसकों को दुख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की।

नक्सली फरमान : 27 को बंद रहेगा उत्तरी बिहार


मुजफ्फरपुर. प्रतिबंधित नक्सली संगठन भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) के उग्रवादियों ने अपने सहयोगियों की गिरफ्तारी के विरोध में 27 जुलाई को उत्तर बिहार के तिरहुत और सारण प्रमंडल में बंद का आह्वान किया है. भाकपा माओवादी (उत्तर बिहार-पश्चिम जोनल कमिटी) के सचिव प्रहार जी के माध्यम से आज जारी पर्चे में कहा गया है कि पिछले 18 जुलाई को मुजफ्फरपुर जिले के बसठपुर से संगठन के तीन माओवादियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था.
इसी के विरोध में संगठन ने आगामी बुधवार को उत्तर बिहार के तिरहुत और सारण प्रमंडल के तहत आने वाले सभी जिलों में बंद रखने की घोषणा की है. पर्चे में यह भी कहा गया है कि बंद के दौरान चिकित्सा सेवा और दूध की आपूर्ति को मुक्त रखा जायेगा.(भास्कर दैनिक)

रविवार

कोसी फिर उफान पर कई गांवों में घुसा पानी

सहरसा। कोसी फिर से उग्र हो उठी है। कई गांवों में जहां बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है वहीं कई स्थानों पर नदी का दबाव बढ़ गया है। नेपाल में दो-तीन दिनों से हो रही बारिश के बाद पूर्वी व पश्चिमी कोसी तटबंध पर चौकसी बढ़ा दी गई है।
कोसी का डिस्चार्ज बढऩे के बाद किशनपुर प्रखंड के अरराहा, एगडारा, लक्ष्मीनियां, सोनवर्षा, बौराहा, परसामाधो, मुरकुचिया, झखराही, मोमिन टोला, बेलागोठ, सुकुमारपुर, सुजानपुर, सिसवा आदि गांवों में दो से तीन फीट पानी प्रवेश कर गया है। लोगबाग दहशत में हैं। पश्चिमी तटबंध के अंदर सिकरहटा, झखारी, निम्न बांध सहित कोसी महासेतु की सुरक्षा के लिए निर्मित गाइड बांध पर भी कोसी खतरे की घंटी बजा रही है। इधर, जलस्तर में वृद्धि से सनपतहा के समीप अस्थाई एप्रोच पथ कट गया है। फलस्वरूप लोगों को आवागमन में काफी दुश्वारियां उठानी पड़ रही है। उधर, नवहट्टा प्रखंड के पहाड़पुर, रामपुर, उराई, बिरजाईन, नारायणपुर, ऐराजी आदि गांव कटाव की चपेट में है। कई परिवारों के बेघर होने की सूचना मिली है। दै.भास्कर.

शुक्रवार

कोसी नदी पर बनेगा नया पुल - सांसद

उत्तर बिहार के कोसी क्षेत्र के कई जिलों को राजधानी पटना और कई महत्वपूर्ण क्षेत्रों से जोड़ने के लिए कोसी नदी के डुमरी घाट के समीप एक नए के बुल ब्रिज का निर्माण कराया जाएगा। खगडिया लोकसभा क्षेत्र से जदयू सांसद दिनेशचन्द्र यादव ने बुधवार को बताया कि करीब पचास करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले इस के बुल ब्रिज के तैयार हो जाने से कोसी क्षेत्र के सहरसा, सुपौल और मधेपुरा का सीधा संपर्क पटना समेत राज्य के कई भागों से हो जाएगा। उन्होंने बताया कि इसके लिए संबंधित मंत्रालय से स्वीकृति मिल गई है। यादव ने बताया कि पुल का निर्माण कार्य डेढ़ वर्ष में पूरा किया जाना है और मानसून के बाद इसका निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि वर्तमान पुल की जर्जर स्थिति के कारण इस पर केवल छोटी गाडियों का परिचालन किया जा रहा है।

शनिवार

राहुल पहुंचे फारबिसगंज- भजनपुर गांव में मृतकों के परिजनों का लिया जायजा

फारबिसगंज।कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी शुक्रवार को फारबिसगंज के भजनपुर गांव पहुंचे। सांसद राहुल गांधी तीन जून को भजनपुर में पुलिस की गोली से मारे गए चारों मृतकों और घायल मंजूर के घर गए। राहुल ने उस विवादित ग्लूकोज फैक्ट्री वाले इलाके का भी दौरा किया जहां पुलिस फायरिंग की घटना हुई थी। कांग्रेस के युवराज भजनपुर हाई स्कूल के प्रांगण में इकट्ठा ग्रामीणों से भी मिले और घटनाक्रम की जानकारी ली। लगभग डेढ़ घंटे के दौरे में राहुल गांधी से मीडिया से दूरी बनाए रखी। अनौपचारिक रूप से इतना ही कहा कि वे पीड़ितों के प्रति अपनी सहानुभूति व्यक्त करने आए हैं। यह राजनीतिक यात्रा नहीं है। उन्होंने पुलिस की गोली से अपाहिज हो चुके मंजूर का अपने खर्च पर इलाज कराने का आश्वासन दिया। इसके लिए उसके पिता को दिल्ली बुलाया है। पूर्णिया एयरबेस पर उतरे : राहुल गांधी विमान से सुबह साढ़े दस बजे पूर्णिया के चूनापुर एयरबेस पहुंचे। वायुसेना के हवाई अड्डे पर पूर्णिया जिला कांग्रेस अध्यक्षा इंदु सिन्हा, विधायक अफाक आलम, पूर्णिया के कांग्रेस प्रत्याशी रहे रामचरित्र यादव आदि ने उनकी आगवानी की। वहां से सड़क मार्ग से लगभग साढ़े ग्यारह बजे अररिया जिला स्थित फारबिसगंज अनुमंडल के भजनपुर पहुंचे। भजनपुर गांव में पहले से पहुंचे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी महबूब अली कैसर, वरीय प्रवक्ता प्रभात कुमार सिंह, युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ललन कुमार, एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष शांभवी शांडिल्य समेत दर्जन भर नेताओं ने कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी को रिसीव किया।
मृतकों के परिजनों के घर पहुंचे लिया हालात का जायजा
भजनपुर गांव में राहुल गांधी चारों मृतकों के घर गए। गत तीन जून की घटना के कारणों और घटनाक्रम के बारे में जानकारी ली। सरकार की ओर से उनको मिली मदद के बारे में पूछा। फिर पुलिस गोली से लकवाग्रस्त हुए छह वर्षीय मंजूर के घर जाकर पिता रसूल अंसारी से मिले। इसके बाद राहुल गांधी सीधे घटनास्थल पहुंचे जहां ग्लूकोज फैक्ट्री से लगी सड़क को घेरे जाने से बवाल खड़ा हुआ। घटनास्थल का मुआयना करने के बाद राहुल भजनपुर प्राइमरी स्कूल में जुटे ग्रामीणों से घटनाक्रम और पूरे हालात की जानकारी ली।- दैनिक भास्कर