gratis homepage uhr website clocks
कोसी प्रमंडल (बिहार) से प्रकाशित इस प्रथम दैनिक ई. अखबार में आपका स्वागत है,भारत एवं विश्व भर में फैले यहाँ के तमाम लोगों के लिए यहाँ की सूचना का एक सशक्त माध्यम हम बनें, यही प्रयास है हमारा, आपका सहयोग आपेक्षित है... - सम्पादक

Scrolling Text

Related Posts with Thumbnails

शुक्रवार

सहरसा DIG समेत 5 पुलिस अफसरों पर चलेगा हत्या का मुकदमा

पूर्णिया. सहरसा रेंज के वर्तमान DIG व तत्कालीन पूर्णिया SP सुंधाशु कुमार के खिलाफ हत्या का मुकदमा चलेगा। उनके साथ पूर्णिया में उस समय के तत्कालीन चार दारोगा के खिलाफ भी अदालत ने मुकदमा चलने की अनुमति दे दी है। इन सभी पर एक व्यक्ति की हत्या कर उसके शव को गायब कर देने का आरोप है। अदालत ने इस मामले में दाखिल अभियोग पत्र वाद संज्ञान में लिया है। पूर्णिया के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी दयालाल प्रसाद ने अभियोग पत्र वाद संख्या 1807/2005 में प्रथम दृष्टया घटना को सही माना है। साथ ही पूर्णिया के तत्कालीन एसपी सुधांशु कुमार, उसी समय टाइगर मोबाइल के प्रभारी सिन्धु शेखर, सहायक खजांची थानाअध्यक्ष गौतम कुमार, के. हाट थाना अध्यक्ष ज्योति प्रकाश एवं सदर के तत्कालीन एसएचओ राम सिंह के खिलाफ धारा 302, 201 एवं 120 बी के तहत संज्ञान लिया है। अदालत ने इन सभी आरोपियों को 18 मई को न्यायालय में उपस्थित होने का आदेश दिया है।
क्या है मामला?
सहायक खजांची थाना क्षेत्र के व‌र्द्धमान हाता निवासी रामविलास सिंह ने अदालत में मामला दर्ज कराया था कि वर्ष 2005 के 23 अगस्त को रात 12 बजे सादे लिबास में सभी आरोपी पुलिस पदाधिकारी उनके घर घुस आए। उनकी बड़ी बेटी संजू देवी और दामाद हरेन्द्र कुमार मेहता को पकड़कर वे अपने साथ ले गए। दूसरे कमरे में सो रही उसकी छोटी बेटी गुडि़या को भी पुलिस वाले ले गए। सबको सदर थाने में जाकर बंद कर दिया। वहां से फिर गुडि़या को दूसरे वाहन पर सवार कर एनएच 31 की ओर ले जाया गया। 25 अगस्त को अभियोगी की बड़ी पुत्री संजू देवी और उसके पति को सादे कागज पर हस्ताक्षर कराकर सहायक खजांची थाना अध्यक्ष ने छोड़ दिया। लेकिन 23 अगस्त से ही गुडि़या का कोई पता नहीं चल पाया। उसकी खोज की जाती रही लेकिन उसका कोई पता नहीं चल सका। रामविलास सिंह ने इस बात की आंशका जतायी कि गुडि़या की हत्या कर उसके शव को साक्ष्य मिटाने के उद्देश्य से छिपा दिया गया। इसी मामले को लेकर अदालत ने DIG समेत सभी को उपस्थित होने का निर्देश दिया है। - दैनिक भास्कर

गुरुवार

स्रोत जो भी हो, हर हाल में बिजली चाहिएः कांग्रेस


बिहार प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से जनता को बिजली-पानी शीघ्र उपलब्ध कराने की मांग की है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता प्रभात कुमार सिंह ने मंगलवार को यहां कहा कि कांग्रेस पार्टी किसी भी सूरत में मुख्यमंत्री को बहानेबाजी की आड़ में बचने का मौका नहीं देगी और इस मामले पर वह बहुत जल्द आंदोलन की रूपरेखा बनाएगी। उन्होंने कहा कि पूर्व में भी कांग्रेस ने पांच अप्रैल को राज्य के सभी जिला मुख्यालयों पर एक दिवसीय महाधरना का आयोजन किया था। सिंह ने कहा कि राज्य को कोल लिंकेज और कोल बलॉग भी मिले हुए हैं और केन्द्रीय पूल से 1700 मेगावाट बिजली भी मिलती है लेकिन नीतीश सरकार की अकर्मण्यता के कारण वितरण व्यवस्था चौपट है और लोगों को बिजली नहीं मिल पा रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भलीभांति जानते है कि अपनी दूसरी पारी में वह शून्य पर आउट होने वाले हैं इसलिए विशेष राज्य की मांग पर हस्ताक्षर अभियान चलाकर राजनीतिक स्टंट कर रहे है।










मधेपुरा में बिजली गिरने से छह झुलसे


मधेपुरा जिले में मचबखरा गांव में आंधी पानी के बाद बिजली गिरने से 10 घरों में आग लग गयी और तीन महिलाओं सहित छह लोग बुरी तरह झुलस गए। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मधेपुरा प्रखंड अंतर्गत मचबखरा गांव में सोमवार देर शाम बिजली गिरने से 10 घरों में आग लग गयी, जिससे छह लोग बुरी तरह झुलस गए। उन्होंने बताया कि तेज हवा के कारण घरों में लगी आग फैल गयी। प्रखंड विकास पदाधिकारी चंद्रमोहन ने बताया कि घायलों की शिनाख्त शंभू दास, रविन्द्र कुमार, मुकेश, जितनी देवी, मीना देवी, सगनी देवी के रूप में की गयी है। सभी बेहोशी की हालत में हैं और उनका इलाज मधेपुरा सदर अस्पताल में चल रहा है।- हिन्दुस्तान




शनिवार

छह करोड़ ठग कर कंपनी संचालक फरार


सहरसा: लगभग ढाई सौ युवकों को नौकरी के नाम पर छह करोड़ हड़प कर भागने वाली कंपनी के दो सहयोगियों को पुलिस ने बनगांव रोड स्थित एक होटल गिरफ्तार किया. उसकी पहचान पटना निवासी अजीत आर्या और हजारीबाग के जय सिंह उर्फ प्रतीक के प में की गयी है. इधरआक्रोशित युवकों ने शुक्रवार की सुबह स्थानीय महावीर चौक स्थित एनएच 107 को जाम कर यातायात बाधित कर दिया. बाद में स्थानीय लोगों एवं सदर थाना के एसआइ पंकज कुमार के समझाने पर ठगी के शिकार युवकों ने जाम हटाया. सदर थानाप्रभारी शिव कुमार महतो ने बताया कि अब तक पीड़ित युवकों ने थाने में कोई लिखित आवेदन नहीं दिया गया हैआवेदन मिलने पर पुलिस जांच करेगी.  स्थानीय पूरब बाजार स्थित देव मार्केट में पिछले आठ नवंबर से कैरियर सोल्यूशन कंपनी का संचालन किया जा रहा थाजिसमें बेरोजगारों से 8500 रुपये लेकर निबंधन करने और उसके बाद नौकरी का आश्वासन दिया जाता था.  
युवकों ने बताया कि पटना निवासी सुमित सिंह और सुरेश कुमार ने प्लान के तहत नेटवर्किंग  का यह जाल फैलाया था. इसमें मधेपुरा जिले के इंदु भूषण एवं रंजीत स्थानीय स्तर पर इतने बड़े गोरखधंधे में उनका साथ देते थे. महज पांच महीने में ही संचालक ने दो बार कंपनी का नाम व काम भी बदल लिया गया. कंपनी का पूर्व में जहां कैरियर सोल्युशन नाम थावही बाद में एशोनेंस मार्केटिंग एडवर्टीजमेंट प्राइवेट लिमिटेड रखा . कंपनी पहले जहां गाड़ियों की बिक्री एवं विभिन्न कंपनी में नौकरी देने को लेकर लोगों से पैसा का उगाही करती थी. 
वहीबाद में बीमा के नाम पर फोन के माध्यम से व्यवसाय करने लगी. इन्हीं युवकों के माध्यम से उक्त कामों को काल सेंटर बता कर करवाया जाता था. सहरसा के अलावा उक्त कंपनी की शाखा व लोग  मुजफ्फरपुरपूर्णियाभागलपुरखगड़ियामधेपुरा,पटना में भी फैले हुए हैं.- प्रभात खबर